Spread the love

हाथरस, 05 जुलाई। Hathras Stampede Victim : कांग्रेस सांसद राहुल गांधी शुक्रवार सुबह हाथरस पहुंचे। यहं उन्होंने भगदड़ पीड़ित से मुलाकात की। उन्होंने इससे पहले अलीगढ़ पहुंचकर भी पीड़ितों से मुलाकात की थी।

हाथरस जिले के 20 और शहर के 10 लोग शामिल

उन्होंने हाथरस के ग्रीन पार्क में पीड़ितों से मुलाकात की। सभी पीड़ित इसी पार्क में इकट्ठा हुए थे। वह भगदड़ में जान गंवा चुकी मुन्नी देवी और आशा देवी के साथ घायल माया देवी से मिले। ये सभी हाथरस के नवीपुर खुर्द के रहने वाले हैं। राहुल गांधी इस हादसे में दम तोड़ चुकी ओमवती के परिवार के लोगों से भी मिले। बता दें कि इस हादसे में जान गंवाने वालों में हाथरस जिले के बीस और शहर के दस लोग शामिल हैं।

हाथरस पीड़ितों से मुलाकात के बाद राहुल गांधी ने कहा कि बहुत परिवारों को नुकसान हुआ है, बहुत लोगों की मौत हुई है. मैं इसको राजनीतिक प्रिज्म से नहीं कहना चाहता हूं। मगर प्रशासन की कमी तो है, गलतियां तो हुई हैं। ये पता लगाया जाना चाहिए।

UP CM से दिल खोलकर मुआवजा देने की कही बात

उन्होंने कहा कि लेकिन सबसे जरूरी बात ये है कि मुआवजा सही मिलना चाहिए क्योंकि ये गरीब परिवार हैं और मुश्किल का समय है इनके लिए। तो मुआवजा ज्यादा से ज्यादा मिलना चाहिए।

उन्होंने कहा कि मैं उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से कहना चाहता हूं कि पीड़ितों को दिल खोलकर मुआवजा देना चाहिए। ये गरीब लोग है, इनको पैसे की जरूरत है। अगर पैसा एक साल बाद देंगे तो इसका कोई फायदा नहीं होगा। वहां पुलिस की तरफ से व्यवस्था सही नहीं थी, ऐसा परिवार वालों ने बताया है। जो चिंता की बता है। राहुल गांधी शुक्रवार सुबह अलीगढ़ के पिलखना गांव पहुंचे थे, जहां उन्होंने यहां प्रेमवती के परिवार और शांति देवी के बेटे से मुलाकात की। राहुल गांधी पिलखना गांव के जिस घर पहुंचे थे, वहां हाथरस भगदड़ में घायल हो चुके दो पीड़ित परिवार के लोग भी मौजूद थे।

राहुल ने पीड़ित परिवारों को दिया आश्वासन

राहुल गांधी ने अलीगढ़ पहुंचकर पीड़ितों को आश्वासन दिया है कि वह संसद में इस मामले को उठाएंगे और उन्हें न्याय दिलाने की कोशिश करेंगे। अलीगढ़ में एक पीड़ित परिवार की सदस्य ने बताया कि राहुल गांधी ने हमें मदद का आश्वासन दिया था। उन्होंने कहा कि पार्टी के माध्यम से हमारी पूरी मदद की जाएगी। उन्होंने हमसे पूरी घटना के बारे में पूछा कि घटना कैसे हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed