Umaria Crime News: Tantrik assaulted in insistence to revive dead womanUmaria Crime News
Spread the love

बिलासपुर, 27 अगस्त। Umaria Crime News : उमरिया जिले के कोतवाली थाना के बिलासपुर चौकी अंतर्गत ग्राम अतरिया में एक महिला की मौत के बाद गांव के एक तांत्रिक के साथ बुरी तरह से मारपीट कर दी गई। साथ यह जिद की जा रही थी कि मृत महिला उसके जादू टोने के कारण मरी है, इसलिए उसे जीवित किया जाए। इस मामले में बाद में पुलिस को हस्तक्षेप करना पड़ा।

घटना के बारे में मिली जानकारी के मुताबिक गांव की लीला बाई की मौत हो गई थी और इस मामले में तांत्रिक हनुमान सिंह पर आरोप लगाया गया था कि उसके जादू टोना से लीलाबाई की मौत हुई है। बताया गया है कि रोजमर्रा की तरह 26 अगस्त की सुबह सुबह घरेलू काम करते करते लीला बाई गोंड पति कंधी गोंड उम्र 45 अचानक अचानक अचेत होकर गिर गई। कुछ समय बाद सांसे भी बंद हो गई। किसी को कुछ समझ में ने ही आया की कैसे लीला की मौत हो गई। घर में मातम पसर गया और आस पड़ोस के लोग भी रोने की आवाज सुनकर एकत्रित होने लगे।

मृतिका को जिंदा करने की जिद

मृतिका के स्वजनों ने गांव के ही 60 वर्षीय हनुमान सिंह पिता ददन सिंह पर आरोप लगाया कि ददन कल ही कह रहा था की मुझे परेशान न करो नही तो जिन्दा नही रह पाओगे और आज सुबह लीला बाई की मौत हो गई। इतना सुनने के बाद गाँव के लोग आक्रोशित हो गए और 60 वर्षीय हनुमान सिंह पिता ददन सिंह को लाकर उसके साथ मारपीट करने लगे और उससे जिद करने लगे कि जैसे तुमने लीला बाई को मारा है वैसे ही इसे अब जिन्दा कर दो। 60 वर्षीय हनुमान सिंह पिता ददन सिंह के साथ इतनी मारपीट कर दी गई की वह बेहोस होकर गिर गया।

अंधविश्वास की बातें

गांव वालो का ऐसा मानना है कि हनुमान सिंह और उसके स्वजन जादू टोना करते हैं इसलिए लीला बाई पहले अपने आप बेहोश हो गई और उसके बाद उसकी मौत हो गई। गांव वालो का ये भी कहना है की हनुमान सिंह का परिवार गांव के देवी देवता को घर में रखा है, जादू टोना करता है जिसके कारण यहां पहले भी अकारण मृत्यु हुई है। यहां के लोगो का कहना है कि माता दाई की पूजा हम नही कर पा रहे हैं उसी का प्रकोप है। मिली जानकारी के अनुसार हनुमान सिंह ने कहा भी कि मैंने किसी भी देवी देवता को अपने घर में कैद नही किया हुआ है। जब बात बढ़ने लगी तो हनुमान सिंह ने कहा की यदि ऐसे ही मुझे परेशान करोगे तो कल गांव में कोई न कोई मौत हो जाएगी और संयोगवश ऐसा हो भी गया जो हनुमान सिंह के लिए आफत बन गई।

पुलिस ने संभाला मोर्चा

घटना की सूचना मिलते ही बिलासपुर चौकी पुलिस ने मौके पर पहुच कर मोर्चा संभाला चुकी भीड़ काफी आक्रोशित थी। पूरे गाँव के लोग जुटते जा रहे थे, इसलिए एएसआई उमेश सिंह ने मौके की नजाकत को देखते हुए गाँव वालो और परिजनों से चर्चा की और उन्हें विश्वास में लेकर किसी तरह से घायल 60 वर्षीय हनुमान सिंह पिता ददन सिंह को उनके चंगुल से छुड़ा कर बिलासपुर स्वास्स्थ केंद्र में ईलाज के लिए भर्ती कराया। साथ ही 60 वर्षीय हनुमान सिंह पिता ददन सिंह के स्वजन दत्त सिंह, जय पान सिंह, मंगल सिंह, शैतान सिंह और बच्चो को ग्राम अतरिया से चौकी सुरक्षित पहुंचा दिया। बिलासपुर के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में घायल हनुमान सिंह का उपचार किया जा रहा है। वहीं दूसरी तरफ रविवार की सुबह मृतिका लीला बाई के शव का पीएम बिलासपुर में किया गया। पीएम उपरांत आज 27 अगस्त को अंतिम संस्कार किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *