Ayushman Yojana: Be careful...! These 30 hospitals of Chhattisgarh collected so much money from patients under Ayushman Yojana... Now strict action on fake hospitals... See the list hereCSERC
Spread the love

रायपुर, 01 जून। CSERC : छत्तीसगढ़ राज्य विद्युत नियामक आयोग ने बिजली की दरें बढ़ा दी हैं। प्रति यूनिट 20 पैसे की वृद्धि की की गई है। आयोग ने 20.45 प्रतिशत के स्थान पर औसत 8.35 प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा की है। राज्य विद्युत वितरण कंपनी ने 4420 करोड़ रुपये का घाटा बताया था। इसलिए 20.45 प्रतिशत वृद्धि होना प्रस्तावित था। इसमें सरकार ने 1000 करोड़ रुपये अनुदान दिया। इसके बाद 8.35 प्रतिशत सभी श्रेणी में बिजली की दरें बढ़ाई गई हैं।

विद्युत नियामक आयोग ने 1 जून से बिजली की नई टैरिफ जारी कर दी है। घरेलू एवं गैर घरेलू बिजली में 20 पैसे प्रति यूनिट की बढ़ोतरी की गई है। वहीं कृषि पंपों के लिए 25 पैसे की बढ़ोतरी हुईहै।पोहा एवं मुरमुरा मिल को 5 फीसदी की छूट को जारी रखा जाएगा।नई विद्युत दर 1 जून से प्रभावी होगी।

बिजली कम्पनी ने 4 हजार 420 करोड़ का घाटा बताया है। जिस पर नियामक आयोग ने 2819 करोड़ का घाटा मान्य किया।राज्य सरकार ने घाटे की प्रतिपूर्ति के लिए 1 हजार करोड़ का अनुदान दिया।अनुदान के बाद 1819 करोड़ का घाटा अनुमानित है।नियामक आयोग ने 8.35 फीसदी वृद्धि अनुमोदित किया है।घरेलू और गैर घरेलू उपभोक्ताओं के लिए 20 पैसे की बढ़ोतरी की गई है।

आयोग ने 20.45 प्रतिशत के स्थान पर औसत 8.35 प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा की है। राज्य विद्युत वितरण कंपनी ने 4420 करोड़ रुपये का घाटा बताया था। इसलिए 20.45 प्रतिशत वृद्धि होना प्रस्तावित था। इसमें सरकार ने 1000 करोड़ रुपये अनुदान दिया। इसके बाद 8.35 प्रतिशत सभी श्रेणी में बिजली की दरें बढ़ाई गई हैं।विनियामक आयोग के चेयर मैन हेमंत वर्मा ने इसकी घोषणा की। बिजली की दरों में 8.35 फीसदी की बढ़ोतरी कर दी गई है। उन्होंने बताया कि नुकसान की भरपाई करने के लिए यह कदम उठाया (CSERC) गया है।

यूनिट पुरानी और नई दर

0-100 3.70 पैसे 3.90 पैसा
101-200 3.90 पैसे 4.10 पैसे
201-400 5.30 पैसे 5.50 पैसे
401-600 6.30 पैसे 6.50 पैसे
601 से अधिक 7.90 पैसे 8.10 पैसे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed