Spread the love

अंबिकापुर, 10 जुलाई। Vani Goyal Murder : अंबिकापुर की वाणी गोयल आखिरी बार रायपुर के बेबीलोन होटल के सीसीटीवी फुटेज में आरोपी विशाल गर्ग के साथ दिखाई दी थी। जांच में पता चला कि वाणी की हत्या के बाद विशाल दो बार फिर होटल में गया था। आशंका है कि वाणी की मौत की तस्दीक करने के लिए विशाल ने ऐसा किया। उसे डर था कि वाणी बच गई तो वह पकड़ा जा सकता है। हालांकि बाद में उसने WRS कॉलोनी के पास ट्रेन से कटकर खुद की भी जान दे दी।

पुलिस ने पोस्टमॉर्टम के बाद दोनों के शवों को उनके परिजनों को सौंप दिया था। वाणी के शव का अंतिम संस्कार अंबिकापुर में किया गया। वहीं विशाल के शव को लेकर परिजन पहले गृहग्राम प्रतापपुर गए और फिर वाराणसी में दाह संस्कार किया।

एक तरफा प्यार में हत्या

वाणी के जीजा सौरभ अग्रवाल का कहना है कि, परिजन वाणी की शादी के लिए लड़का ढूंढ रहे थे। घर में शादी की तैयारी की जा रही थी। इस बात से वाणी भी बहुत खुश थी। उन्होंने कहा कि, एक-तरफा प्यार में युवक ने ऐसी हरकत की। उसने पूरी साजिश के साथ वाणी की हत्या की। सौरभ ने कहा कि, हम लोगों को आशंका है, युवक ने ही दबाव देकर वाणी से होटल में रूम बुक कराया। उसने धमकी दी होगी कि वह शादी में आकर दखल-अंदाजी करेगा। इस वजह से वाणी डर गई होगी। फिर वह उसके साथ होटल के अंदर गई। हत्या के बाद युवक दो बार वापस होटल चेक करने भी गया।

मौत कन्फर्म करने कपड़े चेंज करके पहुंचा

शाम करीब 5 बजे विशाल होटल से बाहर निकला और रायपुर में ही अपने दीदी-जीजा के घर चला गया। आशंका है कि घर पहुंचने पर वाणी की मौत कन्फर्म करने के लिए वह फिर कपड़े बदलकर घर से निकला। इसके बाद शाम करीब 6 बजे फिर होटल पहुंचा।

करीब 10 मिनट कमरे में रहने के बाद विशाल बाहर आया। थोड़ी देर बाद वह फिर से कमरे में गया और इसके बाद करीब 20 मिनट तक रहा। इसके बाद होटल से निकलकर चला गया। दोनों बार आरोपी विशाल गर्ग होटल के CCTV कैमरे में दिखाई दिया है। बताया जा रहा है कि वारदात से 2 दिन पहले ही विशाल रायपुर पहुंच गया था।

युवक की शर्ट ट्रेन की जाली में फंसकर फटी

विशाल गर्ग की लाश पुलिस को अर्धनग्न अवस्था में मिली थी। जीआरपी पुलिस ने बताया कि ट्रेन से कटने के ज्यादातर मामलों में मृतकों के कपड़े ट्रेन के नीचे लगी जालियों में फंस कर फट जाते है। जिससे लाश अर्धनग्न हो जाती है। विशाल के केस में भी ऐसा ही हुआ। उसकी घर में बदली हुई शर्ट पुलिस को मौके से कुछ दूरी में पड़ी मिली है।

माता-पिता की अकेली संतान थी वाणी

वाणी गोयल का शव सोमवार सुबह अंबिकापुर के पॉश इलाके में स्थित कुंडला सिटी के उसके घर लाया गया। वह अकेली संतान थी। वाणी का शव अंबिकापुर पहुंचा तो परिजन फफक पड़े। मिलनसार और हंसमुख स्वभाव की वाणी की हत्या ने सभी को हिलाकर रख दिया है।

विशाल के परिजन भी सदमे में

दूसरी ओर घटना से विशाल के परिजन भी सदमे में हैं। विशाल के पिता की पहले ही मौत हो चुकी है। वह अंबिकापुर में अपनी मां और भाई के साथ किराए के मकान में रहता था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed